विशिष्ट गीतकार :: अनामिका सिंह

अनामिका सिंह के दस गीत शाम सबेरे शगुन मनाती  शाम सबेरे शगुन मनाती खुशियों की परछाई अम्मा की सुधि आई । बड़े सिदौसे उठी बुहारे...

हरिहर प्रसाद चौधरी ‘नूतन’ के पाँच गीत 

हरिहर प्रसाद चौधरी 'नूतन' के पाँच गीत  (कवि की पुण्यतिथि पर स्मरण)    विघटन की गहराइयाँ  छोटे-छोटे सुख के पौधे, ऐश्वयों की डालियाँ बौरायी हैं...

विशिष्ट गीतकार :: हीरालाल मिश्र मधुकर

विशिष्ट गीतकार- हीरालाल मिश्र मधुकर  उठो जवान उठो जवान! मातृभूमि को नया विधान दो। वसुन्धरा पुकारती प्रवीण प्राण दान दो। उठो किसान, बाल-वृंद, वृद्ध-नौजवां उठो,...

विशिष्ट गीतकार :: कमल किशोर मिश्र

महका हरसिंगार खुली रह गई खिड़की मन की, महका हरसिंगार रात भर। शीतल मलयानिल रजनी के, जूड़े में ध्रुव टाँक रहा था। बिखराता ज्योत्स्ना अजिर...